Guru Chandal Yog Shanti Puja

गुरु चांडाल योग क्या है?

जब किसी व्यक्ति का जन्म होता है तो जन्म के समय ग्रहो की जो स्थिति होती है उस हिसाब से जन्म कुंडली बनाई जाती है। जन्मकुंडली मे कई प्रकार के योग बनते है। यह दोष दोनों प्रकार के होते है, अच्छे भी और बुरे भी। इन योगो का प्रभाव व्यक्ति के जीवन पर भी पड़ता है। इन्ही योगो मे से एक गुरु चांडाल दोष भी है। 

गुरु चांडाल योग ज्योतिष शास्त्र में एक अशुभ योग माना जाता है। यह योग तब बनता है जब बृहस्पति (गुरु) और राहु एक ही राशि में या एक दूसरे के नजदीक होते हैं। यह योग व्यक्ति के जीवन में कई नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

Guru Chandal Yog Shanti Puja

गुरु चांडाल दोष के लक्षण -

कुंडली मे यदि गुरु चांडाल दोष हो तो व्यक्ति कई समस्याओ का सामना करना पड़ता है, इन समसायाओ के आधार पर आप यह जान सकते है की आपकी कुंडली मे भी गुरु चांडाल दोष है या नही। 

  • यदि कुंडली मे गुरु चांडाल दोष हो तो व्यक्ति सदैव किसी न किसी बीमारी से सदैव ग्रसित रहता है। 
  • जिस किसी जातक की कुंडली मे गुरु चांडाल दोष होता है उसका चरित्र अशक्त हो जाता है।
  • इस दोष के कारण जातक सदैव बीमारियो से घिरा रहता है। 
  • पाचन तंत्र, कैंसर या अन्य किसी गंभीर बीमारी होने का डर रहता है। 
  • अकीर्ति या निंदा का सामना करना पड़ता है। 
  • व्यक्ति के धर्मभ्रष्ट होने का खतरा बढ जाता है। 
  • किसी महिला की जन्मकुंडली मे यह दोष हो तो उसे वैवाहिक जीवन मे बहुत समस्याओ का सामना करना पड़ता है। 
  • इस दोष के कारण व्यक्ति के अच्छे गुण कम हो जाते है, और नकारात्मक या बुरे गुण बढ़ जाते है। 
  • अनैतिक या अवैध कार्यो मे व्यक्ति की रुचि बढने लगती है।

गुरु चांडाल दोष के उपाय-

गुरु चांडाल दोष के उपाय निम्नलिखित है, आप इन उपायो की मदद से गुरु चांडाल दोष के प्रभाव को कुछ समय के लिए कम कर डाकते है।

  • गुरुवार का व्रत रखना और भगवान विष्णु की पूजा करना गुरु चांडाल दोष के प्रभाव को कम करने का एक अच्छा उपाय है।
  • गुरु चांडाल दोष के असर को कम करने के लिए आप रोज प्रातः सूर्य को जल अर्पण करे, और सूर्य की उपासना करें।
  • गुरुवार को पीले रंग का दान करना, जैसे कि पीले कपड़े, पीले चावल, और पीली फल, इस दोष को कम करने में मदद कर सकता है।
  • गुरु चांडाल दोष के प्रभाव को कम करने के लिए पीले वस्त्र धारण करना चाहिए।
  • गुरु और राहु के मंत्रों का नियमित जाप करने से इस योग के नकारात्मक प्रभावों को कम किया जा सकता है।
  • भगवान शिव की उपासना करना भी इस दोष को कम करने में मदद कर सकता है।

अगर आप गुरु चांडाल दोष से हमेशा के लिए मुक्ति पाना चाहते है, तो आपको जल्दी ही गुरु चांडाल दोष निवारण पूजा सम्पन्न करानी चाहिए।

गुरु चांडाल योग शांति पूजा क्या है?

गुरु चांडाल दोष पूजा मुख्य रूप से एक ज्योतिषीय अनुष्ठान होता है, जिसका उद्देश्य गुरु ग्रह (बृहस्पति) के दोषों को शांत करना होता है। यह मान्यता है कि जब किसी व्यक्ति की जन्मकुंडली में गुरु चांडाल दोष होता हैं, तो उस व्यक्ति को कई प्रकार की समस्याएँ हो सकती हैं। इसके उपाय के रूप में गुरु चांडाल दोष निवारण पूजा को सम्पन्न किया जाता है।

उज्जैन में गुरु चांडाल दोष पूजा का आयोजन किया जाता है, जिसमें विशेष विधियों और मंत्रों के साथ पूजा को सम्पन्न किया जाता है। इस पूजा के सम्पन्न होने के बाद जातक गुरु चांडाल दोष से पूर्ण रूप से मुक्ति पा सकता है।

Book Guru Chandal Yog Shanti Puja in Ujjain

पंडित मंगलेश शर्मा पिछले कई वर्षो से गुरु चांडाल दोष पूजा उज्जैन मे कर रहे है, और पंडित जी के पास वर्षभर गुरु चांडाल दोष पूजा  के लिए लोग आते है, और अपनी समस्याओ और बाधाओ से छुटकारा पाते है। अगर आप भी अपनी किसी समस्या के समाधान के लिए पूजा करवाना चाहते है, तो नीचे दी गई बटन पर क्लिक करके पंडित जी से बात कर सकते है।