You are currently viewing कालसर्प दोष निवारण मंत्र: जानिए असरदार और लाभकारी मंत्र

कालसर्प दोष निवारण मंत्र: जानिए असरदार और लाभकारी मंत्र

कालसर्प दोष निवारण मंत्र – जिस व्यक्ति की कुंडली मे कालसर्प दोष हो, उसे जीवन कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कालसर्प दोष निवारण मंत्र के द्वारा जीवन की सभी समस्याओ को तो हल नहीं किया जा सकता, लेकिन इस मंत्र के उपयोग से हम हमारे जीवन मे कालसर्प दोष से होने वाले दुष्प्रभावो को काफी हद तक कम कर सकते है। नीचे कुछ मंत्रो की सूची दी गई है, जिनके द्वारा हम इन विषम परिस्थितियो के योग को कम कर सकते है।

कालसर्प दोष के नाश के लिए प्रभावशाली मंत्र-

वैसे तो कालसर्प दोष निवारण के बहुत सारे मंत्र है। किन्तु आज हम आपको इन्ही मंत्रो के बारे मे बताएँगे जो आसान और लाभकारी हो। जातक नीचे दिये गए मंत्रो के नियमित जाप से कालसर्प दोष के असर को कम कर सकता है।

1. कालसर्प दोष गायत्री मंत्र

यदि आप नियमित रूप से कालसर्प दोष गायत्री मंत्र का जाप करते है, तो आपको कुछ ही समय मे इसका लाभकारी परिणाम देखने को मिल जाएगा।

।।ॐ कालसर्पाय विद्महे, ग्रहरूपाय धीमहि तन्नो नागः प्रचोदयात्।।

2. सर्प गायत्री मंत्र

कालसर्प दोष से पीड़ित व्यक्ति को सर्प गायत्री मंत्र का जाप करना लाभकारी माना जाता है। इस मंत्र का कालसर्प दोष के दुष्प्रभाव से शीघ्र ही मुक्ति पा सकते है।

।।ॐ नवकुलाय विद्यमहे विषदंताय धीमहि तन्नो सर्प: प्रचोदयात् ।।

3. कालसर्प दोष मंत्र

कालसर्प दोष मंत्र का उच्चारण करने से कालसर्प दोष का दुष्प्रभाव और उससे होने वाली सभी सभी परेशानिया समाप्त हो जाती है।

 ।।ॐ क्रौं नमो अस्तु सर्पेभ्यो कालसर्प शांति कुरु कुरु स्वाहा।।

5. महामृत्युंजय मंत्र

महामृत्युंजय मंत्र का 108 बार जाप जाप करने से कालसर्प दोष तो समाप्त हो ही जाता है, साथ ही जीवन मे सुख शांति आती है।

।। ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम् । उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय माऽमृतात् ।।

4. सर्प मंत्र

 ।।ॐ नमोस्तु सर्पेभ्यो ये के च पृथिवीमनु ये अन्तरिक्षे ये दिवि तेभ्यः सर्पेभ्यो नम:।।

6. राहू और केतू बीज मंत्र

राहू और केतू के कारण ही कुंडली मे कालसर्प दोष बनता है। अतः दोष के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए राहू और केतू के बीज मंत्रो का नियमित रूप से जाप करना चाहिए।

राहू बीज मंत्र

राहु के मंत्र– ।।ऊँ भ्रां भ्रीं भ्रौं स: राहवे नम:।।

केतू बीज मंत्र

।। ऊँ स्त्रां स्त्रीं स्त्रों सः केतवे नमः।।

7. गुप्त कालसर्प दोष मंत्र

राहु और केतू के मंत्रो को आपस मे जोड़कर एक बेहद ही चमत्कारी मंत्र बनता है, इसे गुप्त कालसर्प दोष के नाम से जाना जाता है।

।।ऊँ भ्रां भ्रीं भ्रौं फट् हौं जूं स्त्रां स्त्रीं स्त्रों सः राहवे नमः केतवे नमः स्वाहा।।

8. कालसर्प दोष निवारण मंत्र

कालसर्प दोष से पीड़ित व्यक्ति को कालसर्प दोष निवारण मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए।

।। ॐ क्लीम आस्तिकम् मुनिराजम नमोनमः ।।

9. कालसर्प दोष निवारण शिव मंत्र

कालसर्प दोष के दुष्प्रभाव को कम करने के लिए भगवान शिव का पंचक्षारी मंत्र बहुत ही लाभकारी सिद्ध होता है।

 ।।ॐ नमः शिवाय।।

10. कालसर्प दोष स्तोत्र मंत्र

कालसर्प दोष स्तोत्र मंत्र का जाप नहीं किया जाता है, इन मंत्रो का पाठ किया जाता है। कालसर्प दोष के दुष्प्रभाव को समाप्त करने के लिए भी यह मंत्र प्रसिद्ध है।

अनन्तं वासुकिं शेषं पद्मनाभं च कम्बलम् शंखपालं धृतराष्ट्रं तक्षकं कालियं तथा।।१।।

एतानि नव नामानि नागानाम च महात्मनाम्। सांयकाले पठेन्नित्यं प्रातक्काले विशेषतः।।२।।

तस्य विषभयं नास्ति सर्वत्र विजयी भवेत।।

इति श्रीनवनागस्त्रोत्रं सम्पूर्णम् ll

कालसर्प दोष दूर करने का अचूक उपाय

ऊपर दिये गए मंत्रो के नियमित जाप के द्वारा कालसर्प दोष के दुष्प्रभाव को समाप्त करने के बहुत समय लगता है। किन्तु एक ऐसा उपाय भी जिसकी सहायता से आप केवल 1 दिन मे ही कालसर्प दोष और इसके दुष्प्रभाव से सदैव के लिए के मुक्ति पा सकते है।

कालसर्प दोष निवारण पूजा

कालसर्प दोष निवारण पूजा के द्वारा आप केवल 1 दिन मे ही कालसर्प दोष और उसके दुष्प्रभाव से सदैव के लिए मुक्त हो सकते है। यह लाभकारी और सिद्ध उपाय है। पूजा करने के कुछ समय बाद ही आपको परिणाम देखने को मिलेंगे। पूजा के बाद कालसर्प दोष के कारण जीवन मे आ रही सभी प्रकार की परेशनीया स्वतः ही समाप्त हो जाती है और व्यक्ति को अपने जीवन मे सफलता मिलने लगती है।

कालसर्प दोष निवारण पूजा उज्जैन मे कैसे करवाए

कालसर्प दोष निवारण पूजा कराने से जीवन मे आ रही कई सारी परेशानियों से राहत मिलती है, ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ता और व्यापार मे वृद्धि होती है। अगर आप उज्जैन मे कालसर्प दोष निवारण पूजा करवाना चाहते है, तो उज्जैन के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य मंगलेश शर्मा जी  से संपर्क कर सकते है, और कालसर्प दोष और इसके निवारण के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते है

 ज्योतिषाचार्य मंगलेश शर्मा जी से मुफ्त परामर्श जानकारी प्राप्त करने के लिए नीचे दी गयी बटन पर क्लिक करे।

Call Pandit Ji

केतू बीज मंत्र कौनसा है?

।। ऊँ स्त्रां स्त्रीं स्त्रों सः केतवे नमः।। इस मंत्र का जाप करने से कालसर्प दोष के दुष्प्रभाव से शीघ्र ही मुक्ति मिल जाती है।

कालसर्प दोष निवारण मंत्र क्या है?

कालसर्प दोष से पीड़ित व्यक्ति को कालसर्प दोष निवारण मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए ।। ॐ क्लीम आस्तिकम् मुनिराजम नमोनमः ।।

कालसर्प दोष से मुक्ति के लिए अचूक उपाय क्या है?

कालसर्प दोष निवारण पूजा के द्वारा आप केवल 1 दिन मे ही कालसर्प दोष और उसके दुष्प्रभाव से सदैव के लिए मुक्त हो सकते है

सर्प गायत्री मंत्र क्या है?

 ।।ॐ नमोस्तु सर्पेभ्यो ये के च पृथिवीमनु ये अन्तरिक्षे ये दिवि तेभ्यः सर्पेभ्यो नम:।। कालसर्प दोष से पीड़ित व्यक्ति को इस कालसर्प दोष निवारण मंत्र का जाप अवश्य करना चाहिए।

Leave a Reply